भारत को ब्रिटिश शासन से 15 अगस्त 1947 में आजादी मिली थी।

भारत आजादी से पहले ब्रिटेन शाशन की एक कॉलोनी थी।

ब्रिटिश शासन के दौरान भारतीय लोगो को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

आजादी से पहले ब्रिटिश शासको ने भारतियों पर बोहोत अत्याचार किआ था।

अंग्रेजो का भारतीयों के प्रति रवैया बोहोत बेकार था।

भारतियों को आजादी इतनी आसानी से नहीं मिली थी इसमें कई लोगो की जाने और अथा मेहनत लगी थी।

आजादी के मार्ग पर चलते हुए न जाने कितने भारतीय वीर वीरगति को प्राप्त हुए।

हम सभी को भारतीय होने पर गर्व महसूस होता है क्योंकि हम स्वतंत्र भारत में जन्में हैं।

सन 1857 से 1947 के बीच भारतीय इतिहास में कई ऐसे किस्से शामिल हैं जो भारतीयों पर हुए अत्याचार को बताती हैं।

मोहनदास करमचंद गांधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, मंगल पांडे, मोतीलाल नेहरू, विनायक दामोदर सावरकर जैसे स्वतंत्रता सेनानियों को कभी भूलना नहीं किये।

15 अगस्त 2022, स्वतंत्रता दिवस के इस पावन अवसर पर पूरे देश को बोहोत बोहोत बधाइयाँ, जय हिंद, जय भारत।